• Uncategorized
  • 3

Mera Bharat Mahan

उस दिन T.V. पर मुझे बताया गया “मेरा भारत महान ”
सहसा मै चिन्तित हो गयी
खयालो के जंगल मै खो गयी
“मेरा भारत महान “- क्या इसीलिए
की हमे गुलामी से आजादी मिल गयी या की हमारी आबादी BEHR गयी ?
क्या इसिलिये
की पंजाब खून से नहा रहा है ?
या इसिलिये की आरच्छान के मुद्दा पर फिर से TARURIE सहीद हो गये
की अयोध्या मे मंदिर और मस्जद के नाम पर 1 लंका कांड लिखा गया है
मुझे लगा की मुझे बहकाया जा रहा है
हकीकट के घीनौने शब्द दबाने के लिये
“मेरा भरत महान ” का झुंजुना बजाया जा रहा है
नही – नही
“मेरा भरत महान ” उस दिन होगा जब यहा सभी के होठो पर मुस्कान होगी
पंजाब मे खून नही हरीयाली लहीरायेगी
सभी धर्मो का समान आदर होगा
कोइ युबा आत्मदाह के लीये बेबस नही होगा
कोइ कुबारी मांग ज्बाला मे भश्म नही होगी
भूखे को रोती मिलेगी नंगे को कपरे मिलेगे
नारे हकीकट मे बदलेगे
तभी , तभी ये कह सकेगे
“मेरा भारत महान”



You may also like...

3 Responses

  1. jmalhotra says:

    jmalhotra

    I too love my country and hope the dream of a peaceful and happy country will soon come true…..very beautiful poem

  2. lkjhgf says:

    This type of patriotic poems are rare to find and vear rare to hear from someone.
    If u ask for monie song everyone will start a antakshari but ask them to sing a patriotic song only one tone u will hear
    “aaaaaaaaaaaaaa……….”

  3. betterlife says:

    मेरा भारत महान है,
    हाँ मेरा भारत महान है,
    अगर कोई महान नहीं हैं,
    तो वह हैं कुछ भारतवासी,
    जो वोझ बन गए हैं अपने देश पर,
    रुला रहे हैं धरती माँ को,
    बाँट रहे हैं नफरत,
    फैला रहे हैं हिंसा.

    “प्रेम करो सबसे, नफरत न करो किसी से”
    “Love all, Hate none”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *