• Uncategorized
  • 2

Prefessional politician

नेताजी बहुत जल्दी राजनीति सीख गए,
अभी-अभी तो आए थे वह राजनीति मैं,
और अभी से बातें करने लगे पंडितों सी.


क्या कहना है आज?
और कैसे मुकर जाना है कल?
राजनीति के यह दो मुख्य दांव,
सीख लिए उन्होंने आनन फानन मैं.

पार्टी मैं हाई कमान को आज दोषी ठहराया,
कल कह दिया दोषी कोई और है,
दोनों बयानों पर तारीफ़ मिली,
हाई कमान ने तालियाँ बजाईं,
अखबारों ने मुख्य प्रष्ठ पर छापा,
चम्चो नें उनकी बलैयां लीं,
राजनीति तो घुट्टी मैं मिली है उन्हें.

और भी आए थे उनके कुछ हम उम्र,
उनके साथ राजनीति मैं,
पर वह कुछ न सीख पाये,
या सीख कर भी चुप रहे,
हिम्मत न जुटा पाये कुछ कहने की,
पार्टी और हाई कमान के बारे मैं.

धन्य हैं ऐसे नेताजी को पा कर,
हम और हमारा देश.


You may also like...

2 Responses

  1. veerugcet says:

    Ye netji log itna jaldi rajnit sikh kaise jate hai
    Ye bat sach hai ki, bahut hi kam time me netji log expert ban jate hai
    aur sabse badi bat is field me seniority nahi hoti

  2. Service_to_all says:

    Hello,

    Learning Rajnithi is extremly difficult. There are only learning Shadyantra, lootmari, etc. Which is quite easy.

    Regards,
    SERVICE TO ALL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *