• Uncategorized
  • 4

Encouraging immoral sex

मैं दिल्ली सरकार द्वारा छापे गए एक विज्ञापन को अक्सर देखता हूँ
“असुरक्षित यौन सम्बन्ध एड्स का प्रमुख कारण है, निरोध अपनाएं और एड्स से मुक्त रहें.”


इस विज्ञापन मैं “असुरक्षित यौन सम्बन्ध” से सरकार का क्या अभिप्राय है? कौन से यौन सम्बन्ध की सरकार यहाँ बात कर रही है और किस कारण से वह असुरक्षित है – पति-पत्नी के बीच मैं यौन सम्बन्ध; पति या पत्नी का अन्य स्त्री या पुरूष से यौन सम्बन्ध; विवाह से पहले यौन सम्बन्ध; सामाजिक मान्यताओं से परे यौन सम्बन्ध; जबरन यौन सम्बन्ध? इन सब मैं “पति-पत्नी के बीच मैं यौन सम्बन्ध” के अलाबा सारे यौन सम्बन्ध असुरक्षित हैं और उन मैं निरोध अपनाने की सलाह एक तरह उचित तो लगती है पर क्या सरकार को ऐसी सलाह देनी चाहिए? यह सारे यौन सम्बन्ध ग़लत हैं. भारतीय समाज और संस्कृति इन की इजाज़त नहीं देती. आज समाज मैं अपराधों मैं जो वृद्धि हो रही उन का मुख्य कारण यह ग़लत यौन सम्बन्ध हैं. क्या एक जिम्मेदार सरकार को ऐसी सलाह देनी चाहिए जो ग़लत यौन सम्बन्ध को परोक्ष रूप से मान्यता प्रदान करती हो?

यूनिवर्सिटी, कालिज और अन्य सामाजिक जगहों पर छात्रों और अन्य लोगों को निरोध सप्लाई करना एक अनुचित काम है. यौन सम्बन्ध केवल पति और पत्नी के बीच मैं होने चाहियें. पति-पत्नी को यदि निरोध की जरूरत होगी तब वह किसी भी कैमिस्ट की दूकान से खरीद सकते हैं. शिक्षा संस्थानों मैं लोग शिक्षा प्राप्ति के लिए जाते हैं, वहाँ यौन सम्बन्ध स्थापित करने के लिए नहीं. सरकार को लोगो को ग़लत यौन सम्बन्ध स्थापित न करने की सलाह देनी चाहिए, ग़लत यौन सम्बन्ध स्थापित करने और उस मैं एड्स से वचने के लिए निरोध इस्तेमाल करने की सलाह देना एक अनुचित काम हैं जो किसी भी सरकार को शोभा नहीं देता.


You may also like...

4 Responses

  1. Sulochana says:

    Yes , you are right . This is somehow like encouraging illicit sex by the government . But Govt has to see beyond this , because there is the pressure of population boom as well as the AIDS is spreading fast . If every married man and women in India are sane enough to stick to wed lock sex then it is much more easier for govt to control AIDS . Since it is not happening that way ,then govt must take the responsibilty .

  2. Service_to_all says:

    Hello sir,

    I understand your sentiments, but one has to look at it in a pragmatic manner. Can anyone say with certainity, that despite Govt.’s strict controls on illegal sex or sex outside mattiage, there is no immoral trafficking. Certainly not.

    You know it, I know, every ctizen knows it and the govt. also know it, that it is very much prevalent. On the one hand it has taken legal recourse to prevent sex trafficking, but it has also to prevent the larger consequence of AIDS as well. It definitely will be drain on the Goovt. exchequer, if the disease spreads like wild fire. So there action is only to prevent.

    Look at it as a positive sign. One it instills a fear of AIDS, which prevents someone from going ahead wih any illegal sex. The other most important aspect is the prevention of illegitimate and un-wanted children, who may not be wanted resulting in increased orphanages.

    Regards,
    SERVICE TO ALL

  3. sajeevss says:

    If everybody had proper morals the government would not have to make such moves……we have to think form a very broad perspective.

  4. MOKSHA says:

    YOU ARE RIGHT …..RATHER THAN SUGGESTING PEOPLE TO USE THINGS TO AAVOID AIDS THE GOVT SHOULD PROMOTE ADS SAYING THAT PEOPLE SHOULD NOT DO UN SAFE SEX……

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *